मल्लावां। सर्दी के चलते शनिवार रात कमरे के अंदर कोयले की अंगीठी जलाकर सोए दंपति की दम घुटने से मौत हो गई। साथ में सो रहा पुत्र बेहोश हो गया। रविवार सुबह जानकारी हुई, जिसके बाद घरवाले दरवाजा तोड़कर कमरे में घुसे। जानकारी मिलने पर सनसनी सी फैल गई और काफी संख्या में लोग मौके पर पहुंच गए। मल्लावां के मोहल्ला बंदीपुर के गुलाम रब्बानी शनिवार कमरे के अंदर अंगीठी जलाकर सो रहे थे। अलग-अलग तखत पर उसी कमरे में पत्नी कुबेरा और पुत्र इमरान उर्फ गुड्डू भी सो रहा था। दो पुत्र पप्पू व इरफान अन्य कमरे में सो रहे थे। परिजनों के अनुसार, रात में सर्दी अधिक हाेने के चलते गुलाम ने कमरे के कोयले की अंगीठी जला रखी थी। कमरे में खिड़की नहीं है, एक रोशनदान भी बंद था, जिससे कमरे के अंदर धुआं भर गया। धुआं की वजह से गुलाम व उसकी पत्नी की दम घुटने से मौत हो गई, जबकि उसके पुत्र का ऑक्सीजन लेवल कम होने से वह बेहोश हो गया।

रविवार सुबह जागने पर मृतक के बेटे इरफान व पप्पू ने कमरे का दरवाजा बंद देखा, आवाज लगाने पर कोई जवाब नहीं मिला। पड़ोसियों की मदद से रोशनदान तोड़कर देखा तो कमरे से धुआं का गुबार बाहर निकलने लगा, वह लोग किसी तरह दरवाजा खोलकर अंदर पहुंचे तीनों को बाहर निकाला। इससे पहले दंपति की मौत हो चुकी थी।

गुड्डू को बेहोशी हालत में निजी अस्पताल में भर्ती कराया। चिकित्सक ने स्थिति सामान्य बताई है। मृतक के पांच बेटे हैं। वह लोगों ने पुलिस को सूचना दिए बिना शवों को दफन कर दिया। कस्बा प्रभारी बृजेंद्र पासवान ने बताया कि घटना की जानकारी नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *