खबर और विज्ञापन के लिए सम्पर्क करें। मो0नं0-6394818297

मुरादाबाद के थाना कटघर में तैनात बुलंदशहर निवासी सिपाही ने पूर्व प्रेमिका से शादी करने के लिए खौफनाक साजिश रच डाली। धामपुर में तीन युवकों से खुद को गोली लगवाई। युवती के भाई पर आरोप लगा दिया। सिपाही का प्लान था कि प्रेमिका के भाई को फंसाकर समझौते में उसे शादी की बात तय हो जाएगी। पुलिस ने सिपाही समेत चार आरोपितों को जेल भेज दिया है। तीन आरोपित जिला मुरादाबाद के रहने वाले हैं। थाना कटघर में तैनात सिपाही अजीत कुमार पुत्र चंद्रभान सिंह निवासी गांव बिलसुरी थाना सिकंदराबाद, जिला बुलंदशहर धामपुर में सात मई की रात को घायल अवस्था में मिला था। उसके पैर में गोली लगी थी। धामपुर कोतवाली में तीन अज्ञात पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया था। पुलिस ने घटना की जांच शुरू कर दी थी।

सिपाही ने धामपुर में रहने वाली एक युवती के स्वजन पर गोली मारने का आरोप लगाया था। सीओ सरवम सिंह ने बताया कि पुुलिस ने घटना का राजफाश करते हुए सिपाही अजीत कुमार, जुनैद पुत्र मकूूल हसन निवासी करुला गली गली नंबर एक, जुबैर पुत्र सरताज खान व कासिम पुत्र मनुदीन निवासी जाहिद नगर करुला गली नंबर नौ थाना कटघर जिला मुरादाबाद को गिरफ्तार किया है।

तीनों आरोपित सिपाही के पास कटघर में आते थे। इसी दौरान सिपाही ने उन्हें युवती के स्वजन को फंसाने की प्लानिंग बताई। तीनों सिपाही को गोली मारने के लिए तैयार हो गए। सात मई को चारों दो बाइक से धामपुर पहंचे और घटना को अंजाम दिया। सिपाही का मकसद था कि गोली मारने के आरोप में युवती के भाई और अन्य स्वजन को फंसा देंगे। इसके बाद समझौते के तौर पर शादी की बात तय हो जाएगी। क्योंकि पहले सिपाही के युवती से प्रेम संबंध रहे थे। बाद में युवती ने किनारा कर लिया था। तब से वह पीछे पड़ा था। पुलिस ने दो तमंचे और दो बाइक बरामद कर ली है। सीओ सरवम सिंह ने बताया कि आरोपितों को जेल दिया गया है। आरोपित सिपाही और उसके साथियों ने घटना की पूरी तैयारी की थी। पहले युवती के भाई की रेकी की गई। पता किया कि उसने सात मई की शाम को किस रंग के कपड़े पहने हैं। सिपाही के एक साथी ने उसी रंग की टीशर्ट पहनी। जिससे साक्ष्य के तौर पर कपड़ों का मिलान हो पाए।

सिपाही पहले भी धमकी देता रहा है। युवती को फोन पर बातचीत करते हुए गोली मारने की धमकी दे रहा है। वहीं फंदा लगाते हुए एक फोटो भी युवती के वाट्सएप पर डाला है। इस हरकतों से से पीड़ित परिवार भी परेशान था। सिपाही 2019-20 में धामपुर और नजीबाबाद में तैनात रहा है।

इसके बाद मुरादाबाद तबादला हो गया था। इसके बाद भी आरोपित सिपाही इंटरनेट मीडिया पर तरह-तरह के मैसेज भेजा रहा। 2021 में युवती के भाई ने सिपाही के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। सिपाही इस केस में भी समझौता चाहता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *