खबर और विज्ञापन के लिए सम्पर्क करें। मो0नं0-6394818297

उरई में कोटरा थाना क्षेत्र के बघौरा निवासी पांच युवक सोमवार शाम को पिकनिक मनाने के लिए जागेश्वर धाम स्थित सलाघाट पहुंचे थे। यहां से निकली बेतवा नदी में सभी लोग नहाने लगे। इसी दौरान नहाते समय एक दोस्त का पैर पत्थर से फिसल गया, जिससे वह नदी में गिर गया। उसे बचाने के प्रयास में उसके चार दोस्त पहुंचे। युवक को बचाने के प्रयास में चारों नदी की धारा में आकर फंस गए और गहराई में चले जाने के कारण डूब गए। काफी देर तक जब पांचों लड़के कहीं नजर नहीं आए। वहीं, लोगों को नदी किनारे गाड़ियां, कपड़ों के साथ जूते-चप्पल दिखाई दिए। तब वहां मौजूद लोगों ने अनहोनी की आशंका जताते हुए ग्रामीणों को सूचना दी। मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने उन्हें खोजने का प्रयास किया, लेकिन कुछ भी पता नहीं चला। इसके बाद में पुलिस को सूचना दी गई। नदी में डूबने वाले युवकों की पहचान अनुभव बुंदेला, कनिष्क, कोमिषय, शिवा व महेंद्र के रूप में हुई। जानकारी मिलते ही कोटरा थाना प्रभारी निरीक्षक वरुण कुमार पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे। साथ ही, उन्होंने गोताखोरों को बुलाकर नदी के आसपास उन्हें खोजने का प्रयास किया, लेकिन रात अधिक हो जाने के कारण किसी भी युवक का पता नहीं चल सका।

इसके बाद पुलिस ने गाड़ी नंबर के आधार पर उन सभी के परिजनों के नंबर ट्रेस किए और घटना से अवगत कराया। सूचना मिलते ही परिवार के लोग मौके पर पहुंचे, जिन्होंने कपड़ों और गाड़ी की पहचान की। मंगलवार सुबह एनडीआरएफ और गोताखोरों की टीम ने तीन युवकों के शव को बरामद कर लिया। वहीं, दो की तलाश में गोताखोर लगे है। पुलिस ने जिन तीन युवकों के शव को बरामद किया है, उनके नाम कनिष्क, अनुभव व महेंद्र हैं। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। कोटरा थाना प्रभारी निरीक्षक वरुण कुमार ने बताया कि गोताखोर और एनडीआरएफ की टीम तलाश में लगी हुई है। जल्द ही अन्य युवकों को खोज लिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *