लखनऊ। हर मौसम में यात्रियों को गंतव्य तक पहुंचाने वाले रोडवेज के संविदा ड्राइवरों-कंडक्टरों का पारिश्रमिक बढ़ने जा रहा है। पहली दिसंबर से संविदा कार्मिकों को 14 पैसे प्रति किलोमीटर अधिक भुगतान मिलेगा। प्रदेशभर के 30 हजार से अधिक संविदा कार्मिकों के पारिश्रमिक में 700 से लेकर 1000 रुपये तक प्रतिमाह की बढ़ोतरी होगी। प्रबंध निदेशक मासूम अली सरवर ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है। परिवहन निगम में ड्राइवरों व कंडक्टरों का पारिश्रमिक फिर पुनरीक्षित किया गया है। उन्हें अभी तक 1.75 रुपये प्रति किलोमीटर की दर से भुगतान मिल रहा था, जिसे बढ़ाकर 1.89 रुपये प्रति किलोमीटर कर दिया गया है। ये बढ़ा भुगतान पहली दिसंबर 2023 से प्रभावी होगा। निगम की ओर से कहा गया है कि बढ़ोतरी उनके देय पारिश्रमिक राशि बेसिक में की गई है। इसे ऐसे समझ सकते हैं कि सामान्य ड्राइवरों व कंडक्टरों को माह में 5500 किलोमीटर की दूरी तय करना होता है, अब 14 पैसे प्रति किलोमीटर बढ़ने से उन्हें 700 से 800 रुपये अधिक मिलेंगे। ऐसे ड्राइवर व कंडक्टरों की संख्या प्रदेश में 19874 है, वहीं, उत्तम व उत्कृष्ट श्रेणी के ड्राइवर व कंडक्टरों को 933 रुपये अब अधिक मिलेंगे। बस का संचालन किलोमीटर बढ़ने पर भुगतान में बढ़ोतरी होती जाएगी। रोडवेज कर्मचारी संयुक्त परिषद उत्तर प्रदेश के महामंत्री गिरीश चंद्र ने रोडवेज के निर्णय का स्वागत करते हुए कहा कि उनकी मांग पूरी हो गई है। नोएडा क्षेत्र की नगरीय बसें, इसी क्षेत्र की ग्रामीण सेवाएं व एनसीआर क्षेत्र के तहत कौशांबी, साहिबाबाद व लोनी डिपो, एनसीआर क्षेत्र के सभी डिपो की ग्रामीण सेवाओं में कार्यरत संविदा ड्राइवरों को, गोरखपुर क्षेत्र की अंतरराष्ट्रीय सीमा के निकट सोनौली, सिद्धार्थनगर, महराजगंज डिपो के संविदा ड्राइवरों और उपनगरीय सेवाओं के ड्राइवरों को बढ़ोतरी का लाभ नहीं मिलेगा।

सेवा शर्तों में बदलाव परिवहन निगम ने उत्तम व उत्कृष्ट प्रोत्साहन योजना में ड्राइवरों को दो वर्ष व कंडक्टरों को चार वर्ष की निरंतर सेवा पर लाभ देने का आदेश दिया है। उत्कृष्ट के लिए 24 दिन ड्यूटी व 6000 और उत्तम योजना के लिए 22 दिन ड्यूटी व 5000 किलाेमीटर माह में बस का संचालन जरूरी है, बाकी सेवा शर्तें यथावत हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *