खबर और विज्ञापन के लिए सम्पर्क करें। मो0नं0-6394818297

हिसार।  दुष्कर्म के कई मामलों में हिसार की सेंट्रल जेल-2 में सजा काट रहे टोहाना के अमरपुरी उर्फ जलेबी बाबा उर्फ बिल्लू (49) की मंगलवार रात मौत हो गई। मौत की वजह हार्ट अटैक बताया जा रहा है। अमरपुरी मूलरूप से पंजाब के मानसा का रहने वाला था। वर्षों पहले वह टोहाना में जलेबी की रेहड़ी लगाता था। बाद में बाबा बन गया और आश्रम बना लिया। वर्ष 2017 में वह पूरे देश में सुर्खियों में आया जब उस पर सौ से अधिक महिलाओं ने उपचार और प्रवचन के दौरान नशीली दवाई मिलाकर चाय पिलाने एवं बेसुध होने पर उनके साथ दुष्कर्म करने का आरोप जड़ा था। बाद में मामले की जांच हुई तो आश्रम से आपत्तिजनक सामग्री का भारी जखीरा मिला था।

इसके बाद अमरपुरी पर लगे आरोप में पांच साल तक कोर्ट सुनवाई चली थी। फतेहाबाद की जिला कोर्ट ने दस जनवरी, 2023 को 14 साल की सजा सुनाई। बताया जा रहा है कि अब जलेबी बाबा जेल में रहते कई दिनों से बीमार चल रहा था। जेल में ही रहते उसका अग्रोहा मेडिकल कॉलेज से उपचार चल रहा था।

जेल प्रशासन के अनुसार, मंगलवार दोपहर को अमरपुरी उर्फ जलेबी बाबा को सीने में तकलीफ हुई थी। उसे जेल से पहले हिसार के जिला नागरिक अस्पताल और फिर अग्रोहा मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया।

शाम तक उसे सेहत में सुधार होने पर वापस जेल लाया गया था। बताया जा रहा है कि रात को अमरपुरी को अपनी बैरक में रहते फिर से सीने में दर्द हुआ। उसे अस्पताल लाया गया, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया।

अक्टूबर, 2017 में टोहाना स्थित जलेबी बाबा के आश्रम में महिला श्रद्धालुओं के आपत्तिजनक वीडियो सामने आने के बाद हड़कंप मच गया था। पिछले वर्ष 10 जनवरी को फतेहाबाद कोर्ट ने जलेबी बाबा को नाबालिग से दुष्कर्म के आरोप में 14 साल की सजा सुनाई थी।

कई अन्य महिलाओं से दुष्कर्म के मामले में सात-सात साल की सजा, आइटी एक्ट के तहत पांच साल की सजा सुनाई गई थी। कोर्ट के आदेश पर ये सभी सजा एक साथ चलनी थी।

इसके बाद से जलेबी बाबा हिसार की केंद्रीय जेल-2 में बंद था। आजाद नगर थाना पुलिस ने मजिस्ट्रेट की उपस्थित में डॉक्टरों के बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाया। इस दौरान वीडियोग्राफी भी करवाई गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *