खबर और विज्ञापन के लिए सम्पर्क करें। मो0नं0-6394818297

आगरा। पर्यटन पुलिस ने महाराष्ट्र के पुणे की किन्नर का बैग तीन माह की मशक्कत के बाद ढूंढ़ निकाला। फरवरी में ताजमहल घूमने आईं किन्नर का जेवरात से भरा बैग ऑटो में रह गया था। बिना नंबर के ऑटो को ढूंढ़ना पुलिस के लिए चुनौती था। ऑटो पर लगी रेडियम की पट्टी के आधार पर पुलिस ने ऑटो चालक को पकड़कर बैग बरामद कर लिया। महाराष्ट्र से आईं किन्नर ने बैग मिलने पर पुलिस को जीभर दुआएं दीं। पुणे की किन्नर शुभम जितेंद्र सिंह सात फरवरी को साथियों के साथ ताजमहल देखने आई थीं। वह बालूगंज स्थित मानस होटल में रुकी थीं। होटल से ताजमहल जाने के लिए उन्होंने सफेद व काले रंग का इलेक्ट्रिक ऑटो किया था। ऑटो चालक ने उन्हें पश्चिमी गेट के समीप आरके फोटो स्टूडियो पर छोड़ा। जल्दी में उनका बैग ऑटो में ही रह गया था। बैग में करीब 3.5 लाख रुपये के जेवरात व अन्य सामान था। शुभम ने पुलिस को सूचना दी, लेकिन बैग नहीं मिला। वह बिना कार्रवाई के वापस चली गई थीं और बैग मिलने पर सूचना देने को कहा था। सीसीटीवी फुटेज की जांच में पुलिस को पता चला कि ऑटो की बैक साइड में पीले व लाल रंग की रेडियम की पट्टी लगी हैं। ऑटो का नंबर स्पष्ट नहीं था। पर्यटन पुलिस ने ऑटो की तलाश जारी रखी।

11 मई को उपनिरीक्षक मनोज कुमार को ऑटो दिखाई दिया तो वह चालक को पूछताछ के लिए थाने ले आए। कड़ाई से पूछताछ में आटो चालक ने बैग घर में रखा होने की जानकारी दी। बैग थाने में आने पर पुलिस ने शुभम को सामान की फोटो भेजी। उन्होंने अपना सामान पहचान लिया।

शुभम पर्यटन थाना पहुंचीं तो तस्दीक कराने के बाद एसीपी ताज सुरक्षा सैयद अरीब अहमद और पर्यटन थाना प्रभारी नीलम राणा ने उन्हें बैग सौंप दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *