आजमगढ़ जिले के रिक्सा स्टैण्ड पर दो दिवसीय जय किसान आन्दोलन द्वारा विशाल किसान संसद व धरना प्रदर्शन किया गया।
कार्यक्रम के संयोजक व जय किसान आन्दोलन के प्रदेश अध्यक्ष राजनेत यादव ने सम्बोधित करते हुए कहा कि सरकार द्वारा संचालित जनकल्याणकारी योजनाएं जैसे मनरेगा, कृषि योजनाएं कृषि यंत्र सब्सिडी, आत्मा योजना, बीज वितरण, शादी अनुदान, पशुपालन, लघु उद्योग नाबार्ड की योजना आदि भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ चुकी है। सभी योजनाएं सिर्फ कागज पर चल रही है। उपरोक्त योजना आम जनता तक पहुॅचे, जिसकी देखभाल व पास करने की जिम्मेदारी सरकार के साथ ही सम्बन्धित जिले के सांसदो व विधायकों की होती है। क्योंकि प्रतिवर्ष जिला योजना की बैठक में जब तक जिले के सांसद विधायक पास नहीं करते है तब तक इन योजनाओं का एक पैसा भी खर्च नहीं किया जा सकता। परन्तु जिले के सांसदों, विधायकों में अधिकांश ऐसे है कि जो सांसद व विधायक निधि मिलती है जनता की दवा, सड़क, जनहित के कार्य करने के लिए उसे न करके टोटल निधि हड़प लेते बहुत से सासंद विधायक ऐसे है जो करोड़ो रूपये फ्राड करके ऐसे स्कूलांे व संस्थाओं के नाम से निकाल लेते है, जॉच होने पर वहॉ ऐसी संस्थाये या स्कूल है ही नहीं। कई लोगों पर एफ0आई0आर0 भी हो चुकी है।
10 वर्षो में आजमगढ़ जिले में लगभग 15 हजार करोड़ रूपये का घोटाला हुआ है। योजनाएं आम जनता तक न पहुंच पाने के कारण लोग भुखमरी, कुपोषण, बेरोजगारी पलायन करने के लिए मजबूर हो गये है। गांव में लोगों के पास पैसा नही रह गया है। पूरी मार्केट में सन्नाटा है। दुकानों पर विक्री हो नहीं रही है। रोजगार निकल नहीं रहे है। इस किसान पंचायत संसद में प्रस्ताव पास करके मांग की गयी कि सरकारी योजनाएं जैसे -कृषि यंत्र पर सब्सिडी, आत्मा योजना, कृषि उद्योग मनरेगा, नावार्ड की योजनाएं, खादी ग्रामोद्योग, शादी अनुदान आदि के साथ ही जिले के सांसदों विधायकों की निधि की जॉच सी0बी0आई0 से करवायी जाये। दोषियों पर अविलम्ब सख्त कार्यवाही की जाय। बची हुयी धनराशि नागरिकों की कमेटी बनाकर उनकी देख-रेख में आमजन के सामने पारदर्शी तरीके से उपलब्ध करायी जाय। घरेलू विजली 300 यूनिट तक निःशुल्क करते हुए अब तक की बकाया बिल माफ किया जाय। इसके साथ ही नहरों की सिल्ट सफाई व समय से पानी देने , ग्रामीण क्षेत्र में क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मत करने की भी बात उठी। पश्चिमी उत्तर प्रदेश क्षेत्रीय अध्यक्ष अशोक पवार ने कहा कि जिस दिन जनता अपने अधिकारों को जान लेगी, जनप्रतिनिधियों व सरकार से हिसाब मागने लगेगी। भ्रष्ट नेताओं व अधिकारियों को भागने की जगह नहीं मिलेगी। इस ंपचायत को राकेश सिंह, अश्वनी यादव, रामदरश यादव, लालबहादुर राजभर, शाह शमीम, रविशंकर यादव, विनोद यादव, अच्छेलाल यादव, अवधराज यादव, श्यामदेव यादव, लालचन्द यादव, प्रदेश सचिव धनन्जय यादव, कुर्बान आज्मी, जावेद अहमद, नन्दलाल प्रजापति, शारदा देवी, संगीता, शशिकला, सोना, परमिला, सविता, इनरौता, आदि लोग उपस्थित रहे।
कार्यक्रम की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष बाके लाल यादव व संचालन आशिष पटेल ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *