आगरा। डौकी थाने में तैनात दारोगा का वीडियो इंटरनेट पर प्रसारित हो रहा है। दारोगा झूठे मुकदमे में एफआर लगाने के बाद प्रभारी निरीक्षक पर मानसिक प्रताड़ित करने का आरोप लगा रहा है। दारोगा पुनीत ने बताया कि दो माह पूर्व उन्हें डौकी थाना में तैनाती मिली है। इस दौरान प्रभारी निरीक्षक रामपाल सिंह द्वारा मुकदमा संख्या 39/24 की विवेचना का आदेश मिला था। छेड़छाड़ समेत कई धाराओं में दर्ज मुकदमे की जांच के दौरान सीसीटीवी आदि देखने पर आरोप झूठे पाए गए। इसपर उन्होंने अंतिम रिपोर्ट लगा दी। प्रभारी निरीक्षक दूसरे पक्ष से लाभ लेकर आरोपितों को फंसाना चाहते थे। एफआर लगाने से थाना प्रभारी उनसे खुन्नस रखने लगे हैं। रोजाना सार्वजनिक स्थल पर आम लोगों और सहकर्मियों के सामने उन्हें गालियां देते हैं। उन्हें थाने पर कलंक बताते हुए थाने आने से मना करते हैं। दारोगा की शक्ल देखना पसंद न होने की बात कहते हैं।

दारोगा ने बताया कि प्रभारी निरीक्षक के उत्पीड़न से परेशान होकर वो आत्महत्या करने की हालत पर आ गए हैं। दो दिन पूर्व अपर पुलिस आयुक्त केशव चौधरी से भी इस बात की लिखित शिकायत की है। गालियां देने का एक वीडियो साक्ष्य भी दिया गया है।

मामले में थाना प्रभारी निरीक्षक से बात करने का प्रयास किया गया पर संपर्क नहीं हो पाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *