आजमगढ़ जिले के सगड़ी तहसील के महराजगंज ब्लाक के चकनायक ग्राम पंचायत के एक पूरवा में उस समय अफरा-तफरी मच गया, जब गांव में बुलडोजर पहुंच गया। गांव में ग्रामीण इकट्ठा थे, महिला, पुरूष और बच्चे कड़ाके की ठंड में बुलडोजर के सामने खड़े हो गये। सभी परेशान हाल थे, कारण कि वर्षो से जहां वह अपना आशियाना बनाकर रह रहे थे, उसको तोड़ने का फरमान जारी हो गया। ग्रामीणो ने बताया कि ग्राम प्रधान चुनावी रंजिश के चलते गांव के बीचोबीच पानी की टंकी बना रहे है जबकि गांव में बहुत सी जमीन खाली है। कई महिलाएं तो अपने आंसू तक नहीं रोक पाई, कहती नजर आई साहब हम कहां जायेंगे। अब ऐसे में सवार यह उठता है कि एक तरफ योगी सरकार गरीबो को आशियाना देने की बात करती है तो वहीं दूसरी तरफ कुछ राजनीतिक लोग अधिकारियो के साथ मिलीभगत कर गरीबो को प्रताड़ित करने से भी गूरेज नहीं कर रहे है। सब मिलाकर यह कहां जा सकता है कि सरकार की मंशा पर पानी फेरने का काम कुछ सरकारी तंत्र कर रहे है। फिलहाल ग्रामीणो के विरोध के बाद मौके पर पहुंचे कानूनगो ने बताया कि ग्राम प्रधान ने जो प्रस्ताव बना कर दिया है उसी के आधार पर वह लोग कार्रवाई के लिए आये थे, यदि गांव में जमीन उपलब्ध है तो लेखपाल उसकी पैमाइश कर फिर से प्रस्ताव बनाया जा सकता है। बुलडोजर तो चला गया लेकिन गांव वालो में दहशत अभी भी व्याप्त है। अब देखना यह होगा कि ग्रामीणो को वहां तैनात अधिकारी न्याय दिला पाते है या नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *