गाजीपुर। स्वाट टीम एवं खानपुर पुलिस ने नकली नाेट छापने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है। इस मामले में पुलिस ने निजी विद्यालय में नकली नोट छापने वाले अंतर प्रांतीय गिरोह के सरगना समेत तीन सदस्यों को गिरफ्तार कर उनके पास से 99 हजार 200 रुपये के 500, 200 एवं 100 के नकली नोट, प्रिंटर, पेपर एवं दो मोटरसाइकिल बरामद किया है। रविवार को पुलिस अधीक्षक ओमवीर सिंह ने तीनों को मीडिया के समक्ष पेश किया, जहां पकड़े गए आरोपितों ने अपनी कारस्तानी स्वीकार की।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि खानपुर थाना क्षेत्र के सिधौना गांव निवासी गिरोह का सरगना विजय भारती के ऊपर यूपी समेत अन्य राज्यों में करीब तीन दर्जन मुकदमें दर्ज हैं। पुलिस अधीक्षक ने जानकारी दी कि स्वाट टीम एवं खानपुर पुलिस ने विजय भारती एवं उसके दो साथियों मरदह थाना क्षेत्र के रायपुर माघपुर निवासी विशेन यादव एवं करदहा कैथोली गांव निवासी अमित यादव को बिहारीगंज डगरा एवं पोखरा मोड़ के पास से गिरफ्तार किया। तलाशी में तीनों के पास से 500 के 30, 200 के 276 एवं 100 के 290 नकली नोट बरामद हुआ जिसकी कीमत 99200 रुपये बरामद किया। पूछताछ करने पर तीनों की निशानदेही पर मेहनाजपुर स्थित एक निजी विद्यालय से नकली नोट छापने वाला प्रिंटर, प्रयोग होने वाला पेपर, दो मोटरसाइकिल एवं कूटरचित चार आधार कार्ड बरामद किया है। पूछताछ में विजय भारती ने स्वीकार किया कि मेहनाजपुर में उनका निजी विद्यालय है जिसमें प्रिंटर लगाकर अपने साथियों के साथ नकली नोट छापते थे और उत्तर प्रदेश के अलावा बिहार, झारखंड, राजस्थान एवं दिल्ली में बाजार में खपाते थे। एसपी ने कहा कि पुलिस लगातार अपराधियों पर नजर रख रही है, जिस कड़ी में इस गिरोह का पता चला तो खानपुर पुलिस के अलावा स्वाट टीम को लगाया गया। पुलिस कप्तान ने गिरफ्तार करने वाली टीम की तारीफ की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *