खबर और विज्ञापन के लिए सम्पर्क करें। मो0नं0-6394818297

आगरा। लोहामंडी के नाला गोकुलपुरा में गुरुवार की रात बच्चे को पीटने से टोकने पर बवाल हो गया। वाल्मीकि और प्रजापति समाज के लोगों के पथराव और फायरिंग से दहशत फैल गई। पथराव करते लोगों ने पार्षद पति के भाई की दुकान में आग लगा दी। संघर्ष में दोनों पक्ष के आधा दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए। एक महिला को गोली लगी है।डीसीपी सिटी सूरज कुमार राय समेत अन्य अधिकारी फोर्स के साथ पहुंच गए। तनाव को देखते हुए पीएसी तैनात की है। विवाद की शुरूआत गुरुवार शाम आठ बजे हुई। प्रजापति समाज के लोगों ने बताया बस्ती के 12 वर्षीय बालक को वाल्मीकि समाज के बल्लू के भतीजे पीट रहे थे। विरोध करने पर बल्लू और उसके पक्ष के लोगों ने लाठी-डंडों और तमंचों से लैस होकर हमला बोल दिया।

पथराव और फायरिंग शुरू कर दी। इससे बस्ती में अफरातफरी और दहशत फैल गई। करीब आधा घंटे तक पथराव होता रहा। आरोपितों ने पार्षद पति राजेश प्रजापति के भाई वीरेंद्र के खोखे में आग लगा दी।काेहनी में गोली लगने से लक्ष्मी प्रजापति घायल हो गईं। इसके अलावा छह अन्य लोग भी घायल हुए हैं।

वहीं, वाल्मीकि समाज के भुल्ले नरवार का कहना है कि उनकी बस्ती के कुछ बच्चे प्रजापति मोहल्ले में लगी टंकी पर हाथ-पैर धोने गए थे। वहां पार्षद पति राजेश प्रजापति के भाई वीरेंद्र ने बच्चेां को पीट दिया।

जानकारी होने पर रात करीब 10 बजे वह अपने बेटे बल्लू व समाज के अन्य लाेगों के साथ वीरेंद्र से बातचीत करने गए थे। वहां राजेश प्रजापति, वीरेंद्र अशोक गोला और उनके परिवार के लोगों ने हमला बोल दिया।

आरोप है कि बल्लू के सिर पर फरसा से प्रहार किया, वहां से किसी तरह जान बचाकर भागे। घायल भुल्ले को शाहगंज में ऋृषि मार्ग स्थित एक अस्पताल में भर्ती कराया गया।वहीं, गोली लगने से घायल लक्ष्मी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

डीसीपी सिटी सूरज कुमार राय ने बताया कि दोनों पक्ष द्वारा एक दूसरे पर आरोप हमला बोलने का आरोप लगाया गया है। पुलिस मुकदमा दर्ज कर आरोपितों की गिरफ्तारी का प्रयास कर रही है। बस्ती में तनाव को देखते हुए पुलिस तैनात की गई है। पथराव और फायरिंग करने वालों को गिरफ्तारी को पुलिस ने बस्ती में रात में ही दबिशें देना शुरू कर दीं। इससे आक्रोशित बस्ती की महिलाओं ने हंगामा शुरू कर दिया। वह सड़क पर धरना देने बैठ गईं। दोनों पक्ष के लोग थाने पर जुट गए। उनका आरोप था कि पुलिस पथराव और फायरिंग करने वालों की जगह निर्दोष लोगों को पकड़ रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *