खबर और विज्ञापन के लिए सम्पर्क करें। मो0नं0-6394818297

कानपुर। मध्य प्रदेश के दमोह से अपने गुरु को कार से लेने मकनपुर जा रहे तीन युवकों को पुलिस बन अगवा करके लूटपाट करने वाले बदमाशों को पुलिस ने मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया। मुठभेड़ के दौरान पैर में गोली लगने से एक बदमाश घायल हुआ है। जांच में सामने आया है कि घटना में पांच बदमाश शामिल थे, जिसमें से एक अभी फरार है। पुलिस ने लुटेरों के पास से तमंचा, दो कारतूस व घटना में प्रयुक्त कार बरामद कर ली है। घायल बदमाश को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। देर शाम बाकी को जेल भेज दिया गया।

मध्य प्रदेश के दमोह जिले के फुटेराबाद वार्ड नंबर एक हरसिद्धि मंदिर के पास रहने वाले वसीम खान उर्फ राजा अपने साथी पुराना बाजार नंबर दो, थाना सिटी दमोह मध्य प्रदेश निवासी आसिफ खान और चालक सौरभ ताम्रकार के साथ शनिवार को स्विफ्ट डिजायर कार से मकनपुर में रहने वाले अपने हजरत को लेने जा रहे थे।

रात आठ बजे मकनपुर रोड पर देवहा मोड़ के पास पीछे से दूसरी स्विफ्ट डिजायर कार से आए लोगों ने ओवरटेक कर गाड़ी वसीम की कार के आगे लगा दी और खुद को पुलिस वाला बताकर पिस्तौल दिखाते हुए मारपीट कर तीनों युवकों को अपनी कार में बैठा लिया।

बदमाशों ने लूटपाट के साथ मुठभेड़ के नाम पर युवकों के परिवार से दो लाख रुपये मांगे थे और ऑनलाइन 53 हजार रुपये मंगा लिए थे। हालांकि पुलिस के सक्रिय होने का शक होने पर बदमाशों ने वसीम को पनकी और आसिफ व सौरभ को महाराजपुर क्षेत्र में छोड़ दिया था।

मुकदमा दर्जकर पुलिस की सात टीमों को लुटेरों की तलाश में लगाया गया था। पुलिस आयुक्त कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में डीसीपी पश्चिम विजय ढुल ने बताया कि लूट की घटना के बाद पुलिस ने आपरेशन त्रिनेत्र के तहत लगवाए गए 250 कैमरों को खंगाला तो बदमाशों की तस्वीरें मिल गईं।

बदमाशों की शिनाख्त के बाद मोबाइल फोन के माध्यम से उनकी लोकेशन खंगाली गई तो रविवार देर रात अरौल में विषधन रोड पर मिली। लूट में प्रयुक्त स्विफ्ट डिजायर कार में ही बदमाश थे। पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की लेकिन बदमाशों ने गोली चला दी। इस पर पुलिस ने भी गोली चलाई, जिससे एक बदमाश बाएं पैर में गोली लगने से घायल हो गया, जिसके बाद बाकी तीनों ने आत्मसमर्पण कर दिया।

घायल बदमाश की शिनाख्त बिल्हौर के डोड़वा जमौली गांव निवासी सूर्यकांत उर्फ सूर्या के रूप में हुई है। अन्य गिरफ्तार बदमाश दिव्यांशु कमल उर्फ लाली निवासी अकबरपुर कानपुर देहात, शंटी उर्फ अमन निवासी गुजैनी थाना के पीछे आरा मशीन के पास और रिशू सविता उर्फ लड्डू उन्नाव के सफीपुर थानाक्षेत्र के गांव बमुहना का रहने वाला है। डीसीपी की ओर से पकड़ने वाली पुलिस टीम को 50 हजार रुपये का इनाम दिया गया है।

डीसीपी के मुताबिक यह चोरों का गिरोह है जो अब लूटमार में भी हाथ आजमा रहा था। पुलिस इनके खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा भी दर्ज करेगी। घायल सूर्या विधि का छात्र है और प्रापर्टी डीलिंग का भी काम करता है। इसके खिलाफ कल्याणपुर में चोरी का मुकदमा है। इसके अलावा हाईस्कूल पास दिव्यांशु के खिलाफ भी पूर्व में चोरी तीन मुकदमे दर्ज हैं। वर्तमान में वह आइसक्रीम बेचने का काम कर रहा था। शंटी आठवीं पास है और मुर्गा काटने का काम करता है। इसके खिलाफ हत्या का प्रयास और आर्म्स एक्ट के दो मुकदमे हैं। हाईस्कूल पास और सेल्स मार्केटिंग से जुड़े रिशू का अभी आपराधिक इतिहास नहीं मिला है।

डीसीपी ने बताया कि बदमाशों ने पीड़ित वसीम के परिवार से 53 हजार रुपये मंगवाए थे, जिसमें 42 हजार रुपये वह अपने खातों में ट्रांसफर कराने में सफल रहे। पुलिस ने इनमें से 23 हजार रुपये बरामद किए हैं।

पुलिस को जो कार बरामद हुई है, वह हनुमंत विहार निवासी मोहित की है। हरदेव नगर बर्रा निवासी सत्यप्रकाश ने यह कार मोहित से शादी में बुकिंग के लिए किराये पर ली थी। पुलिस ने सत्यप्रकाश को भी आरोपित बनाया है। सत्यप्रकाश अभी फरार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *