खबर और विज्ञापन के लिए सम्पर्क करें। मो0नं0-6394818297

अयोध्या। प्यार के खिलाफ जब प्रेमी का परिवार खड़ा हुआ तो प्रेमिका हिम्मत दिखाते हुए पुलिस चौकी कामाख्या धाम पहुंच गई। पुलिस ने प्रेमी के परिजनों को समझाया। फिर क्या था… आखिरकार प्यार की जीत हुई। मां कामाख्या भवानी मंदिर, पुलिसकर्मी और मंदिर के पुजारी इस प्यार को दांपत्य जीवन में बदलने के साक्षी बने। प्रेमिका ने प्रेमी को वरमाला पहनाई तो मंदिर के घंटे ऐसे बजे मानों शहनाई बजी हो। प्रकरण बाबा बाजार थाने के रतनपुर गांव का है। रतनपुर के दिलीप व सुनबा की ममता को एक दूसरे से प्यार हो गया। प्यार जब परवान चढ़ा तो दोनों ने शादी का फैसला किया और मामले की जानकारी परिजनों को दी। दिलीप के परिजन शादी के खिलाफ अड़ गए। इस बात की जानकारी होते ही प्रेमिका सुनबा से कामाख्याधाम चौकी पहुंची और शिकायत की। चौकी प्रभारी दिवाकर ने प्रेमी के स्वजनों को बुला कर समझाया बुझाया। इसके बाद कामाख्या मंदिर में ही दोनों परिणय सूत्र में बंध गए। मंदिर के पुजारी व चौकी प्रभारी ने दोनों को आशीर्वाद देकर सुखी मंगलमय दांपत्य जीवन की कामना की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *